FACULTY 
​Dr P.K.Dixit with his  successful students
​as guest faculty members


FREE YOUTUBE CHANNEL FOR YOU

​BRAIN TRAIN PROGRAMME FOR UPSC AND PCS"


Professional Online Education

Dr.P.K.Dixit D.Phil, IAS rank officer,teaches here since 2001 after his vol.retirement 

READ BOOKS AS I READ EVEN IN THIS AGE !

मुझे करोड़ों कुंठित युवाओं को देख कर कष्ट होता है।इन्हें झूठी आशा दे कर ठगना कितना सरल है पर कितना क्रूर और अमानवीय।किताबें लिख कर बेच डालूं,मटेरियल के नाम पर बाजार की चार छः किताबों को कट पेस्ट करके मटेरियल बना दूँ,क्वेश्चन बैंक टेस्ट सीरीज बना दूँ,पर कितना पाप है ये ,बेरोज़गारों को ठगना।
कोचिंग में थोड़े से लोगों को पढ़ाता हूँ,पर दिन रात एक करता हूँ।पूर्ण योग्य बनाता हूँ।व्यक्तित्व विकास करता हूँ।सेलेक्ट वही होते हैं जो मेरे निर्देश मानते हैं।
पिकनिक प्रवृत्ति बहुत है एस्पिरंट्स में।क्षोभ होता है इन पर।माता पिता के धन का भी दर्द नहीं है कि कैसे इकठ्ठा कर के दिया होगा 
लड़कियां लड़के गांव से शहर आईएएस बनने आरहे हैं क्योंकि ये लाइसेंस है घर से बाहर रहकर अपने प्रेम संबंध निर्भय हो कर चलाने के लिए ! माता पिता सोच रहे हैं कि बेटे बेटी आईएएस बन रहे हैं।
ऐसे लोग कृपया शिखर की और मुंह भी न करें।
फिर एक बात और,क्यों सब आईएएस आईपीएस बनना चाहते हैं?इस दुश्चक्र के चक्रवात में अनेक वर्ष गँवा कर चरम कुंठित हो कर फ़ेंक दिए जाते हैं चक्रवात के बाहर।मुझे खूब पता है कि सिलेक्शन कैसे होता है,नहीं नहीं,कोई घूसखोरी नहीं चलती,पर ये पता है सुपर इंटेलेक्ट का अर्थ क्या है।कैसे लोग प्री भर पास हो पाते हैं,कौन इंटरव्यू में रह जाते हैं।विडियो यू ट्यूब पर निःशुल्क उपलब्ध करा रहा हूँ ।इंटरव्यू पर पुस्तक फ्री उपलब्ध है मेरे पेज पर।पर पोर्न साइट खोजलेंगे तुरंत मेरी पुस्तक ,प्रोस्पेक्टस इन्हें नहीं मिलती।यहीं से मैं इमेज बनाता हूँ।
फेसबुक पर तो नॉन सीरियस की भरमार है।
मेरे यू ट्यूब दर्शक बेहतर हैं।
फेसबुक पर तमाम लोगों में लगन है ही नहीं,पढ़ने की इच्छा ही नहीं है।चमक दमक के लिए ,ग्लैमर के लिए,पावर के लिए,तज्जन्य अवैध धन के लिए पतंगों की तरह खिंचे चले आ रहे हैं।जिनका कुछ सार्थक करने का उद्देश्य है और जो मेरी सुनते हैं वे ही मुझे प्रिय हैं।
बाजार का आकर्षण हैं ये नॉन सीरियस लोग।
इनके बल पर कोचिंग कॉर्पोरेट चल रहा है
सफल तो अपने बल पर निकलता है और कोई कोई तो बाद में अपने को चार पांच कोचिंग में पढ़ा बता देता है
"गरीब बच्चों ? "को फ्री पढ़ाने के "महान"पवित्र उद्देश्य वाले विशाल कॉर्पोरेट के हाथों बिक जाते हैं।
और महान आईएएस बनना चाह रहे महोदय क्या कर रहे हैं? वो देखो
सिलेबस पता नहीं,गाइड खरीदे जा रहे हैं

खिन्न हो कर बहुत लोगों को मना कर देता हूँ एडमिशन देने से ।इसीलिए यू ट्यूब फेसबुक वालों को शुद्ध मना है एडमिशन देने से।पहले सीरियस हो जाओ।
शिखर अकादमी गुरुकुल है
बेईमानी से पैसा तो अपने विभाग में ही कमा लेता।
बच्चों को ठगने वाला राक्षस नहीं हूँ